आपका इंतज़ार है.


सच बोलो तो संकट में फंसता है प्राण
पर झूट के तो नहीं होते है पाँव

गुंडागर्दी , चोरी , लूटपाट
त्रस्त है देश इन सबसे आज

कहाँ है वो जो सुधारेंगे देश को
ऐसा ही कुछ लिया था प्रण बढ़ाकर आवेश को

पर ऐसा कुछ हमें द्रष्टव्य न हुआ
देश तो और भी पतन की ओर गया

आतंकी,अतिवादियों ने देश कब्जाया
देश का ठेकेदार मूंह ताकता रह गया

नियति हमारी क्या इतनी ही  खराब है ?
कब लेंगे अवतार कल्कि जी बस आपका इंतज़ार है

Advertisements

One response to this post.

  1. … बेहद प्रभावशाली है ।

    Reply

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: