दिन तो बदलते………


दिन तो बदलते है
जीते है मरते है
अपनी इस दुनिया में
पल पल फिसलते है


क्षण-भंगुर ये काया
भटकाती है माया
मन के इस भटकन से
बारम्बार छलते है


चलायमान सांसो का
गतिमान इस धड़कन का
नश्वर इस काया से
मोहभंग होना है

सावन फिर आयेगा
बदरा फिर छाएगा
ऋतुओं को आना है
आकर छा जायेगा


मन के इस पंछी को
तन के इस पिंजरे में
सहलाकर रखना है
वर्ना उड़ जायेगा


रे बंधु सुन रे सुन
नश्वर इस काया की
माया में न पड़ तू
वर्ना पछतायेगा
Advertisements

17 responses to this post.

  1. रे बंधु सुन रे सुननश्वर इस काया कीमाया में न पड़ तूवर्ना पछतायेगाजीवन के सत्य को लिखा है अपने .. सार्थक रचना … पर इंसान समझ नही पाता इस बात को …

    Reply

  2. खूब संभाला मन को फ़िर भी न जाने क्यूं ये उड़ने को करता हैसमझाया बहुत, फ़िर भी न जाने क्यूं माया में पड़ने को मरता है…

    Reply

  3. खूब संभाला मन को फ़िर भी न जाने क्यूं ये उड़ने को करता हैसमझाया बहुत, फ़िर भी न जाने क्यूं माया में पड़ने को मरता है…

    Reply

  4. जीवन के वास्तविक सत्यों का उद्घाटन किया है आपने …बड़ी बारीकी से …शुक्रिया

    Reply

  5. एक सन्देश देती रचना,सुंदर प्रस्तुति!

    Reply

  6. bahut achcha likha aapne bhi aur aapne mere blog par comment kiya merijeevankatha.blogspot.com par…..thanx aur plz mera ek aur blog hai samratonlyfor.blogspot.comusko bhi dekhna aur plz comment karna

    Reply

  7. sundar bhavabhivyakti !

    Reply

  8. man ko to sab vash me rakhna chahte hai par man-panchi kahah vash me rahta hai? sundar bhavabhivyakti !

    Reply

  9. अन्तरआत्मा को एक सन्देश देती रचना। उम्दा।

    Reply

  10. अना जी, बहुत ही सच्ची बात कही आपने इस कविता के माध्यम से. सुंदर प्रस्तुति .उपेन्द्र सृजन – शिखर पर ( राजीव दीक्षित जी का जाना

    Reply

  11. बहुत ही सुन्दर कविता ..कई रंगों को समेटे हुए…मुट्ठी भर आसमान…

    Reply

  12. चलायमान सांसो कागतिमान इस धड़कन कानश्वर इस काया सेमोहभंग होना है….गहन चिंतन से परिपूर्ण एक शास्वत सत्य को गहराई से रेखंकित करती एक सुन्दर प्रस्तुति..आभार

    Reply

  13. उत्कृष्ट नवगीत ।

    Reply

  14. उत्कृष्ट नवगीत ।

    Reply

  15. आध्यत्मिक दर्शन कराती कवितामाया से बचेंगे तो ही पार पायेंगें

    Reply

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: