ज़िन्दगी से……….



ज़िन्दगी  से बस यूं ही
 चन्द बातें हुई
 चमन में आये बहार से
 एक मुलाकात हुई

 जलते चिरागों तले
 रोशनी नहीं होती
 चिराग  तले अँधेरे में
 ज़िन्दगी दीदार हुई

 हर तरफ भीड़ है
 हर शख्स है परेशान
इस दुनिया  में ज़िन्दगी
 तू ही है तनहा खडी

Advertisements

13 responses to this post.

  1. adbhut…sach me pyari see rachna..:)kabhi hamare blog pe aayen…

    Reply

  2. क्या बात है..बहुत सुंदर

    Reply

  3. हर तरफ भीड़ है हर शख्स है परेशानइस दुनिया में ज़िन्दगी तू ही है तनहा खडीवाकई अद्भुत रचना

    Reply

  4. जीवन का एक सनातन शाश्वत सत्य प्रस्तुत करती हुई छोटी परन्तु प्रभावशाली कविता……….

    Reply

  5. सच कहा आपने ज़िन्दगी ही तन्हा रह जाती है ……

    Reply

  6. sundar kam shabdon mein achhee baateinhanso to hanstee zindgee roo to rotee zindgee jiyo to jeetee zindgee jaisaa dekho zindgee ko waisee dikhtee zindgee

    Reply

  7. बहुत सुन्दर

    Reply

  8. हर तरफ भीड़ है – हर शख्स है परेशान –बहुत सुन्दर

    Reply

  9. bhut hi succhi aur khubsurat panktiya…

    Reply

  10. ज़िन्दगी से बस यूं ही चन्द बातें हुई चमन में आये बहार से एक मुलाकात हुई……..सितारों की भीड़ में खो गयी थी चांदनी आज उसकी खुद से बात हुयी ………बहुत सुन्दर ,,,, खुद से बात की आपने ……..

    Reply

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: