आँखों की भाषा….


आँखों की भाषा पढना सीखो 
खामोशी को चुपके से सुनना सीखो 
शब्द बिना बोले लब से 
जुबां की भाषा समझना सीखो 


सुनो  गुनगुनाती हवा को 
सन सन सन सन कहती है क्या 
शब्दों की मद्धिम आहट सुनकर 
क़दमों को पहचानना सीखो 


छूना न ठहरे पानी को 
इक इक लम्हा गिर जाएगा 
चटक जायेंगी गहराइयां 
ग़म का प्याला दरक जाएगा 


जुबां तुम न खोलो पिया
आँखों से खोलो जिया 
नयनों के अश्कों की 
भाषा को समझना सीखो 

Advertisements

8 responses to this post.

  1. बहुत प्यारी कविता कही आपने बधाई

    Reply

  2. सुंदर अभिव्‍यक्ति…. बेहतरीन प्रस्‍तुतिकरण…..

    Reply

  3. जुबां तुम न खोलो पियाआँखों से खोलो जिया नयनों के अश्कों की भाषा को समझना सीखो बोली गई भाषा की तुलना में चेहरे के हाव-भाव की भाषा ज्यादा प्रभावशाली होती है।बढि़या कविता।

    Reply

  4. आन्तरिक भावों के सहज प्रवाहमय सुन्दर रचना….

    Reply

  5. आपके विचार पढकर हार्दिक प्रसन्नता हुई. आपके द्वारा हिंदी को अंतरजाल पर समृद्ध करने में दिया जा रहा योगदान अमूल्य है. क्या आप ब्लॉगप्रहरी के नये स्वरूप से परिचित है.हिंदी ब्लॉगजगत से सेवार्थ हमने ब्लॉगप्रहरी के रूप में एक बेमिशाल एग्रीगेटर आपके सामने रखा है. यह एग्रीगेटर अपने पूर्वजों और वर्तमान में सक्रिय सभी साथी एग्रीगेटरों से कई गुणा सुविधाजनक और आकर्षक है. उदाहरण स्वरूप आप यह परिचय पन्ना देखें उदहारण हेतू पन्ना . क्या आपको इससे बेहतर परिचय पन्ना कोई अन्य सेवा देती है. शायद नहीं ! यह हम हिंदी ब्लोगरों के लिए गर्व की बात है. इसे आप हिंदी ब्लॉगर को केंद्र में रखकर बनाया गया एक संपूर्ण एग्रीगेटर कह सकते हैं. मात्र एग्रीगेटर ही नहीं, यह आपके फेसबुक और ट्वीटर की चुनिन्दा सेवाओं को भी समेटे हुए है. हमारा मकसद इसे सर्वगुण संपन्न बनाना था. और सबसे अहम बात की आप यहाँ मित्र बनाने, चैट करने, ग्रुप निर्माण करने, आकर्षक प्रोफाइल पेज ( जो दावे के साथ, अंतरजाल पर आपके लिए सबसे आकर्षक और सुविधाजनक प्रोफाइल पन्ना है), प्राइवेट चैट, फौलोवर बनाने-बनने, पसंद-नापसंद..के अलावा अपने फेसबुक के खाते हो ब्लॉगप्रहरी से ही अपडेट करने की आश्चर्यजनक सुविधाएं पाते हैं. सबसे अहम बात , कि यह पूर्ण लोकतान्त्रिक तरीके से कार्य करता है, जहाँ विशिष्ट कोई भी नहीं. 🙂 कृपया हमारी सेवाओं को अन्य हिंदी ब्लॉग पाठकों तक पहुँचाने में हमारी मदद करें. ब्लॉगप्रहरी का लोगो/विड्जेट आप इन पन्नों से प्राप्त करे सकते हैं. लोगो के लिए डैशबोर्ड पर जायें. आकर्षक विड्जेट के लिए यहाँ जायें.

    Reply

  6. छूना न ठहरे पानी को इक इक लम्हा गिर जाएगा चटक जायेंगी गहराइयां ग़म का प्याला दरक जाएगा ….सुन्दर अभिव्यक्ति

    Reply

  7. सुन्दर और कोमल अभिव्यक्ति

    Reply

  8. बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति| धन्यवाद|

    Reply

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: